सन्देश ऐप क्या है? What is Sandes App

भारत सरकार के नेशनल इंफॉर्मेटिक्स सेंटर ने व्हाट्सएप की तर्ज पर सन्देश (Sandes App) नाम से एक इंस्टेंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म लॉन्च किया है। व्हाट्सएप की ही तरह संदेश ऐप उपयोग मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी के साथ किसी भी प्रकार के संचार के लिए किया जा सकता है।

सन्देश ऐप की ज़रूरत क्यों पड़ी

सन 2020 में Covid-19 पुरे संसार में बहुत तेज़ी से फेल रहा था। भारत सरकार ने कोविद -19 के प्रसार को रोकने के लिए सारे देश में राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लगा दिया था। और जितने भी सरकारी या प्राइवेट कर्मचारी थे उन्हें घर से ही आपना काम करने की लिए कहाँ गया था। इसके बाद, सरकार को अपने कर्मचारियों के बीच सुरक्षित संचार सुनिश्चित करने के लिए एक मंच बनाने की आवश्यकता महसूस हुई।

सुरक्षा मामलों को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने अप्रैल माह में अपने सभी सरकारी कर्मचारियों को आधिकारिक संचार के लिए ज़ूम जैसे प्लेटफार्मों का उपयोग करने मना कर दिया था। क्योकि सरकार को संदेह था की ज़ूम जैसी एप्प भारतीय नागरिको का डाटा चोरी कर रही है।

सन्देश ऐप कब बनी

इस एप्प का पहले संस्करण एनआईसी ने अगस्त 2020 में जारी किया था। अभी तक इस ऐप का उपयोग केंद्र और राज्य सरकार के दोनों अधिकारियों द्वारा ही किया जा रहा है। सन्देश ऐप को शुरू में एंड्रॉइड उपयोगकर्ताओं के लिए लॉन्च किया गया था और लेकिन अभी iOS उपयोगकर्ता भी इस एप्प का उपयोग कर सकते है।

संदेश ऐप (Sandesh App) को मेक इन इंडिया complains के अंतर्गत बनाया गया है। इस ऐप का मकसद केवल भारत-निर्मित सॉफ़्टवेयरो को बढ़ावा देना है। आरंभ में यह ऐप केवल सरकारी अधिकारियों के लिए खुला था, लेकिन अब संदेश ऐप को आम जनता के लिए भी जारी कर दिया गया है।

सन्देश ऐप में क्या सुबिधा है (Feature of Sandes App)

संदेश (Sandes App) नाम के इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप में एक इंटरफेस है जो वर्तमान में बाजार में उपलब्ध कई अन्य ऐप के समान है जैसे की व्हाट्सप्प आदि। पहली बार उपयोगकर्ता को इस एप्प में पंजीकृत करने के लिए एक वैध मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी का उपयोग करना ज़रूरी है। जैसे अन्य ऐप में भी हम Signup के लिए करते है। इस एप्प में आपको ग्रुप बनाने, ब्रॉडकास्ट मैसेज, मैसेज फॉरवर्डिंग और इमोजी जैसी सुविधाएं भी दी गई हैं। हालांकि, दो प्लेटफ़ॉर्म के बीच अपने चैट इतिहास को भेजने का कोई सुभीधा उपलब्ध नहीं है, सरकारी इंस्टेंट मैसेजिंग सिस्टम (GIMS) पर चैट का उपयोग उपयोगकर्ताओं के ईमेल तक किया जा सकता है।

इसके अलावा, एक अतिरिक्त सुरक्षा सुविधा के रूप में, इस ऐप में उपयोगकर्ता को अपने संदेश को गोपनीय के रूप में चिह्नित करने की अनुमति मिलती है। यह ऐप प्राप्तकर्ता को यह सूचित करने की अनुमति देगा कि संदेश को दूसरों के साथ साझा नहीं किया जाना चाहिए। गोपनीय टैग, हालांकि, संदेश को एक उपयोगकर्ता से दूसरे में भेजे जाने के तरीके को नहीं बदलता है।

क्या सीमाएं है (What is Limitation of Sandes App)

हालांकि, यह ऐप उपयोगकर्ता को अपनी ईमेल आईडी या पंजीकृत फोन नंबर को बदलने की अनुमति नहीं देता है। उपयोगकर्ता को अपने पंजीकृत ईमेल आईडी या फोन नंबर को ऐप में बदलने की इच्छा होने पर नए उपयोगकर्ता के रूप में फिर से पंजीकरण करना होगा।

जरूर पढ़े: डिजिटल लॉकर क्या है इसे कैसे उपयोग करे।

कैसे उपयोग करे

  • सबसे पहले सन्देश ऐप की वेबसाइट (यहाँ क्लिक करे)पर जाये।
  • अकॉउंट बनाने के दो तरीके है मोबाइल नंबर से या मेल id से। किसी एक का उपयोग करे।
  • जिस मोबाइल या मेल का इस्तेमाल कर रहे है उस पर एक OTP आएगा। इससे सत्यापित करे।
  • Profile में जा कर अपने बारे में बताये नाम आदि।
  • बस बन गया आपका अकाउंट संदेस ऐप पर।

अगर आपको जानकारी अच्छी लगी हो तो आपने दोस्तों या रिस्तेदारो के साथ ज़रूर शेयर करे। और यदि आपके पास सन्देश एप से सम्बंधित कोई भी सवाल हो तो हमें कमेंट के माध्यम से ज़रूर बतलाये।

धन्यवाद।

1 thought on “सन्देश ऐप क्या है? What is Sandes App”

Leave a Comment