गूगल डॉक्स का उपयोग कैसे करें? Google Docs Basic tutorial, tips, and tricks

गूगल डॉक्स या गूगल डाक्यूमेंट्स (Google Docs) गूगल के दुवारा प्रदान की जाने वाली एक फ्री सेवा है। यह एक क्लाउड आधारित सेवा है। यानिकि आप इंटरनेट की मदद से किसी भी कंप्यूटर से अपनी फाइल्स को ओपन कर सकते हो। इस पोस्ट की सहयता से हम आपको गूगल डॉक्स (Google Docs in hindi) के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देंगे जैसे की इसे कैसे उपयोग करते है आदि।

इससे पहले की हम आपको गूगल डॉक्स का उपयोग करना बतलाये क्या आप जानते हैं कि गूगल डॉक्स एक ऐसा पावरफुल ऑनलाइन टूल है, जिसकी मदद से आप न केवल अपनी फाइल और डॉक्युमेंट्स को ऑनलाइन सेव कर सकते हैं, बल्कि उन्हें किसी के भी साथ शेयर भी कर सकते हैं। इसके अलावा जब भी आप मुख्य डाॅक्यूमेंट में कहीं से भी कोई बदलाब करते है तो यह डॉक्यूमेंट सभी जगह अपने आप अपडेट हो जायेगा।

वैसे तो करोड़ो लोग निशुल्क गूगल डॉक्स का इस्तेमाल करते है लेकिन अभी भी बहुत से लोगो को इसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी ना होने के कारण, इसका सही से इस्तेमाल नहीं कर पाते है।

यदि आप भी ऐसे लोगो में से एक है जिन्हे इस सेवा के बारे में पूरी तरह से जानकारी नहीं तो चिंता न करें! हम यहां Google डॉक्स का उपयोग करने के तरीके के बारे में एक शुरुआती मार्गदर्शिका के साथ मदद करने के लिए हैं।

गूगल डॉक्स क्या है?

गूगल डॉक्स एक क्लाउड-आधारित वर्ड प्रोसेसर है जो Google के ऑफिस सूट का एक अभिन्न अंग है। गूगल के इसी अभिन्न अंग को G-Suite भी कहा जाता है। Google अपनी कई अन्य क्लाउड-आधारित सेवाओं जैसे गूगल ड्राइव, शीट्स, स्लाइड्स, जीमेल, Google वर्कस्पेस आदि के साथ व्यवसायों और छात्रों के लिए समान रूप से एक व्यापक उत्पादकता मंच प्रदान करता है।

बास्तव में आज के समय में Google डॉक्स ने माइक्रोसॉफ्ट वर्ड के मुख्य प्रतिद्वान्धी के रूप में अपनी प्रमुख जगह बनाई है। मेरा आपसे एक सवाल है की क्या आज के समय में भी आप अपनी फाइल और डॉक्युमेंट्स की कॉपी रखने के लिये पेनड्राइव या अन्य कोई और स्टोरेज डिवाइस का उपयोग करते है। यदि हाँ तो हम इस पोस्ट की मदद से आज से ही आपके जीवन में इन स्टोरेज डिवाइस का उपयोग कम कर देंगे।

आप Google डॉक्स को G-Suite के माइक्रोसॉफ्ट वर्ड के रूप में भी पहचान सकते हैं। यह आपको फ्री में विभिन्न प्रकार के दस्तावेज़ों को बनाने और उन्हें प्रारूपित करने की अनुमति प्रदान करता है। इसके साथ ही ये गूगल की अन्य सेवाये जैसे गूगल शीट्स, स्लाइड्स आदि के साथ भी एकीकरण होने की सुभीधा प्रदान करता है।

गूगल शीट की सहयता से आप तालिका और ग्राफ आदि को गूगल डॉक्स (Google Docs in Hindi) में डाल सकते हो। इसके साथ ही यहाँ पर आपको विशिष्ट कार्यों के लिए हज़ारो टेम्प्लेट और ऐड-ऑन मिलते है जो आपके काम को बहुत ही आसान बना देते है।

Google डॉक्स उपयोग करने में सबसे अच्छी बात यह है यह पूरी तरह से निःशुक्ल है और इसके उपयोग के लिए आप पूरी तरह से स्वतंत्र है। इसका उपयोग करने के लिए बस आपके पास एक गूगल खाता होना बहुत ज़रूरी है।

इसे भी पढ़े:

गूगल डॉक्स कैसे काम करता है?

गूगल डॉक्स पूरी तरह से क्लाउड-आधारित गूगल की निःशुक्ल सेवा है। यह सेवा पारंपरिक माइक्रोसॉफ्ट वर्ड की तरह ही काम करता है। इसमें केवल इतना ही अंतर है की माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में फाइल आपकी हार्ड ड्राइव में सहेजे होती है जबकि गूगल डॉक्स में आपके दस्तावेज़ गूगल डिस्क में सहेजे जाते है।

यह पारंपरिक वर्ड प्रोसेसर की तुलना में कई फायदे जैसे कि रीयल-टाइम में सहयोगी संपादन और स्वचालित बैकअप आदि प्रदान करता है। पूरी तरह से क्रॉस-प्लेटफ़ॉर्म होने की बजह से आप इसे किसी भी ब्राउज़र या डिवाइस से एक्सेस कर सकते हैं।

यदि अपने कभी भी माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस का उपयोग किया है तो आपको गूगल डॉक्स को उपयोग करने में कोई कठनाई नहीं आने वाली है। गूगल डॉक्स में आपको स्क्रीन के शीर्ष पर एक ही टूल रिबन मिलता है इसके साथ ही यही पर आपको बहुत सारे कीबोर्ड शॉर्टकट भी देखने को मिलते है। ये सभी वही बिकल्प होते है जिन्हे आप वर्षों से उपयोग करते आ रहे है। गूगल डॉक्स का सबसे बड़ा फायदा यह है की आपको अपने दस्तावेज़ को एडिट या मॉडिफाइड करने के लिए एक डेडिकेटेड एप्लिकेशन की ज़रूरत नहीं पड़ेगी। इन सभी कामो के लिए आप एक जीमेल अकाउंट के साथ ही अपने ब्राउज़र से एक्सेस कर सकते हैं।

FAQ

1. क्या गूगल डॉक्स पूरी तरह से सुरक्षित हैं

हाँ। गूगल डॉक्स पूरी तरह से सुरक्षित है लेकिन जब तक आप किसी अन्य पक्ष के साथ स्पष्ट रूप से साझा नहीं करते है। यदि आपको कोई दस्ताबेज किसी के साथ साझा करना है, तो स्क्रीन के ऊपरी दाएं भाग में खुले दस्तावेज़ के साथ साझा करें।

Leave a Comment