डिजिटल लॉकर क्या है? What is a Digital locker?

हममे से कोई भी व्यक्ति अपने साथ हमेसा आपने दस्ताबेज साथ नहीं रख सकते। जैसे की आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैनकार्ड, अपनी मार्कशीट आदि। हम लोग हर जगह इनको साथ लेकर नहीं घूम सकते है। किन्तु हमारे पास मोबाइल हमसे हमारे साथ ही रहता है चाहे हम कही भी जाये। क्यों ना आपके सारे दस्ताबेज मोबाइल फ़ोन में ही आ जाये। आपकी इसी समस्या का समाधान किया है भारत सरकार ने।

भारत सरकार ने 1 जुलाई 2015 को अपने सभी नागरिकों के लिए उनके सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज जैसे पैन कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, मार्कशीट और डिग्री प्रमाणपत्र आदि को डिजिटल रूप से संग्रहीत करने में मदद करने के लिए डिजिटल लॉकर (Digital locker) की सुविधा शुरू की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime minister Narendra Modi) के डिजिटल इंडिया प्रोग्राम (Digital India program) के तहत इस डिजिटल लॉकर को बनाया गया है। इसके लिए आपके पास आपका आधार नंबर होना ज़रूरी है यानि आधार कार्ड का नंबर डालकर आप अपना डिजीटल लॉकर अकाउंट खोल सकते हैं।

डिज़िटल लॉकर क्या है? What is Digital Locker?

डिजिटल लॉकर को नरेंद्र मोदी सरकार के डिपार्टमेंट ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (डीईआईटीवाई) डिपार्टमेंट ने शुरू किया है। डिजिटल लॉकर (Digi Locker) मोबाइल ऐप और वेबसाइट दोनों version में उपलब्ध है। यहाँ पर आपको अपने सभी दस्तावेज़ों के लिए 1 GB स्टोरेज का स्थान मुफ्त में दिया जाता है। मूल रूप से यह एक भौतिक लॉकर की ही तरह है बस फर्क इतना ही है की यहाँ पर आप अपने आभूषणो की जगह अपने दस्तावेजों को संग्रहीत करते हैं। यह e-Locker आपको हर जगह भौतिक रूप से दस्तावेजों को ले जाने से मुक्त करता है।

क्या डिजिटल लॉकर सुरक्षित है? Is Digital Locker Safe?

हम जानते है की आपके पास इसकी सुरक्षा को लेकर कई सवाल होने। आप सोचते होंगे क्या डिजिटल लॉकर पूरी तरह से सुरक्षित है? क्या यहाँ पर मेरे डाक्यूमेंट्स का गलत उपयोग हो सकता है। क्या कोई हैकर मेरे डॉक्यूमेंट तो नहीं चुरा लेगा। मैं आपको बतलाना चाहता हूँ की डिजिटल लॉकर (Digital locker) उसी सुरक्षा मानकों का उपयोग करता है जिसका उपयोग भारत की सभी बैंक अपनी इंटरनेट बैंकिंग के लिए करते हैं। डिजिटल लॉकर भी आपसे ओटीपी या वन-टाइम पासवर्ड मांगता है जो आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर और ईमेल पते पर आता है। यही बस एकमात्र तरीका है जिससे आप अपने डिजिटल लॉकर का इस्तेमाल कर सकते है।

जरूर पढ़े: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार की सभी 200 से ज्यादा योजना के बारे में।

DigiLocker के लिए साइन अप करना आसान है – आपको बस अपना मोबाइल नंबर चाहिए। आपका मोबाइल नंबर एक OTP (वन-टाइम पासवर्ड) भेजकर प्रमाणित किया जाएगा, जिसके बाद उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड का चयन करेंगा। इससे आपका Digi-locker अकाउंट बन जाएगा।आपका DigiLocker खाता सफलतापूर्वक बनने के बाद, आप अतिरिक्त सेवाओं का लाभ उठाने के लिए स्वेच्छा से अपना आधार नंबर (UIDAI द्वारा जारी किया गया) प्रदान कर सकते हैं।

डिजिटल लॉकर के उपयोग (Uses of Digital Locker)

  • आपके दस्ताबेज डिजिटल रूप में हमेसा सुरक्षित रहेंगे।
  • आप किसी भी पंजीकृत एजेंसी व विभाग को अपने डॉक्यूमेंट्स बड़ी आसानी से भेज पाएंगे। भारत के नागरिक अपने डिजिटल दस्तावेजों को कभी भी और किसी के साथ भी ऑनलाइन शेयर कर सकते हैं।
  • सरकारी विभागों के प्रशासनिक काम में सहायता होगी और और आपके काम तीब्र गति के साथ होंगे।
  • आप आपने डॉक्यूमेंट्स को ई-मेल के माध्यम से भी किसी के साथ साझा कर सकते हैं।
  • कागज की बचत होगी।
  • डिजिटल लॉकर में केंद्र और राज्य सरकार के लगभग सभी बिभाग जुड़े हुए है। अगर आपके दस्ताबेजो को प्रामाणिक करना है तो ये काम बहुत ही आसान हो जायेगा।
  • स्व-अपलोड किए गए दस्तावेज़ों को डिजिटल रूप से eSign सुविधा का उपयोग करके हस्ताक्षरित किया जा सकता है।

डिजिटल लॉकर अकाउंट कैसे बनाये (How to Create Digital Locker Account)

यदि आप भी अपना अगर डिजिटल लॉकर खोलना चाहते हैं तो उसके लिए निम्नः प्रोसेस है-

  • डिजीटल लॉकर को खोलने के लिए आपको सबसे पहले http://digitallocker.gov.in/ वेबसाइट पर जाना होगा। अगर आप मोबाइल का उपयोग करते है तो डिजिटल लॉकर की App को डाउनलोड करना होगा।
  • वेबसाइट पर आने के बाद आपको एक आईडी बनानी होगी।
  • इसके बाद आपको आपना आधार कार्ड नंबर लिखना होगा। जो मोबाइल आपके आधार के साथ लिंक है उस मोबाइल नंबर पर एक OTP जायेगा। ये आपकी सुरक्षा के लिए है।
  • बस अब आपका डिजिलॉकर पर अकाउंट बन जायेगा
  • इसके बाद आप उसमें सारे निजी दस्तावेज अलग अलग मेनू में जा कर डाउनलोड कर सकते है।
  • आपका लाग इन आईडी और पासवर्ड आपका अपना होगा जिसे आप कभी भी और कहीं भी खोल सकते हैं।

डिजिटल लॉकर से फायदा (Benefits of Digital Locker)

  • यह एक पूरी तरह से पारदर्शी प्रोसेस है।
  • डिजीलॉकर का उपयोग करने से आपके दस्तावेज हमेसा सुरक्षित रहेंगे।
  • डिजिटल लॉकर का उपयोग करने से धोखाधड़ी नहीं हो सकती है।
  • अगर सर्टिफिकट देने वाली संस्था आपके डाक्यूमेंट्स को सत्यापित करती है तो इसमें नकली दस्तावेजों से हमेसा बचा जा सकता है।
  • डिजिटल लॉकर में आप केवल pdf, jpg, jpeg, png, bmp फारमेट में ही फाइलों को ही अपलोड कर सकते है वीडियो आदि नहीं।
  • यहाँ पर आपको 1 GB का स्टोरेज ही मिलता है।

कौन कौन से बिभाग जुड़े है

डिजिटल लॉकर के साथ केंद एव राज्य सरकारों के लगभग सभी बिभाग जुड़े है। इनमे से कुछ मुख्य है :

  • आधार कार्ड
  • पैनकार्ड
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • पासपोर्ट सेवा
  • शिक्षा बिभाग
  • RTO
  • सभी बीमा कंपनी
  • सभी सरकारी कंपनी आदि।

1 thought on “डिजिटल लॉकर क्या है? What is a Digital locker?”

Leave a Comment