गूगल ऐडवर्ड्स और गूगल ऐडसेंस में क्या अंतर है?

Difference Between AdWords and AdSense in Hindi: क्या आप Google ऐडवर्ड्स और गूगल ऐडसेंस के बीच अंतर को समझना चाहते हैं, तो आप सही जगह पर आए हैं। इस लेख में हम आपको Google ऐडवर्ड्स और गूगल ऐडसेंस दोनों के बारे में विस्तार से बताएंगे और समझायेंगे कि इन दोनों में क्या अंतर है।

वैसे इन दोनों प्लेटफॉर्म को गूगल ने एडवरटाइजिंग के मकसद से डेवलप किया है। ये दोनों नेटवर्क Google की आय के मुख्य स्रोतों में से एक हैं।

जहां Google AdWords आपको (एक एडवरटाइजर) Google सर्च रिजल्ट्स पेजो (या इसके भागीदार नेटवर्क) पर विज्ञापन देने की अनुमति देता है, वहीं Google AdSense आपकी वेबसाइट पर Google विज्ञापन प्रदर्शित करने के लिए एक प्रकाशक के रूप में उपयोग करने का प्लेटफॉर्म है।

अगर आप एक नए ब्लॉगर या वेबसाइट के मालिक हैं तो आपको इन दोनों प्लेटफॉर्म के बीच के अंतर को समझना चाहिए। मुख्य रूप से आपको पता होना चाहिए कि ये दोनों प्लेटफॉर्म क्या हैं। इसके साथ ही आपको पता होना चाहिए कि आप किन परिस्थितियों में एक ही वेबसाइट पर Google AdWords और Google AdSense दोनों की सेवाओं का एक साथ उपयोग कैसे कर सकते हैं।

चलिए शुरू करते हैं! और सबसे पहले जान लें कि Google AdWords क्या है?

Google AdSense क्या है?

Google AdSense, अन्य Google सेवाओं की तरह, एक ऐसी सेवा है जिसका उपयोग Google अपने विज्ञापन कार्यक्रम के लिए करता है। आप ब्लॉग, वेबसाइट या YouTube वीडियो जैसी सामग्री पर विज्ञापन दिखाकर पैसे कमाने के लिए Google Adsense का उपयोग कर सकते हैं। विज्ञापन कंपनियां इसके माध्यम से विज्ञापन देने के लिए भुगतान करती हैं, और आप अपनी साइट या चैनल पर विज्ञापनों की मेजबानी करके उस राजस्व का एक हिस्सा प्राप्त करते हैं। आप अपने जीमेल खाते से एडसेंस खाते के लिए साइन अप कर सकते हैं, जो बिल्कुल मुफ्त है।

गूगल ऐडसेंस कैसे काम करता है?

यदि आप अपनी वेबसाइट या यूट्यूब चैनल पर गूगल अद्सेंसे के अड्स दिखाना चाहते है तो सबसे पहले, आपकी वेबसाइट को गूगल से मंजूरी प्राप्त करनी होगी। Google किस आधार पर वेबसाइट को अद्सेंसे के लिए अप्रूवल देता है इस मेट्रिक्स का आजतक खुलासा नहीं हुआ है। लेकिन अगर आपकी साइट में यूनिक कंटेंट मौजूद है और आपकी वेबसाइट या ब्लॉग AdSense की सभी नीतियों का सही से अनुपालन करती है, तो आप आवेदन करने के लिए उपयुक्त हैं। अद्सेंसे के आवेदन के लिए आपकी उम्र कम से कम अट्ठारह साल अवश्य होनी आवश्यक है।

स्वीकृत होने के बाद, आप अपनी साइट पर गूगल अद्सेंसे के माध्यम से विज्ञापनों के प्रदर्शित होने की व्यवस्था कर सकते हैं। अद्सेंसे अकाउंट में आप चुन सकते हैं कि आपकी वेबसाइट पर किस प्रकार के विज्ञापन चलेंगे और वे पृष्ठ पर कहां दिखाई देंगे। लेकिन बिज्ञापन में जो कंपनियां आपकी साइट पर दिखाई देती हैं, वे आपकी साइट पर बिज्ञापन दिखने के अपने अधिकार के लिए बोली लगाती हैं।

ऐडसेंस अपने विज्ञापनदाताओं को आपकी सामग्री की गुडवत्ता के आधार पर आपकी वेबसाइट पर स्थान के लिए होड़ करने देता है, साथ ही साथ आगंतुकों से उनके विज्ञापनों पर क्लिक प्राप्त करने की कितनी संभावना है। Google विज्ञापनदाता के “गुणवत्ता स्कोर” के माध्यम से बाद वाले का निर्धारण करता है। यहां दो कारक काम कर रहे हैं। एक क्लिक-थ्रू दर, या सीटीआर है। यह आपकी साइट पर आने वाले आगंतुकों का प्रतिशत है जो Google को लगता है कि विज्ञापनों पर क्लिक करेगा।

दूसरा एक समूह है जिसे Google “विज्ञापन देखने से उपयोगकर्ता अनुभव की गुणवत्ता को प्रभावित करने वाले कारक” कहता है। Google यह खुलासा नहीं करता कि ये क्या हैं, लेकिन इसकी सहायता साइट के अनुसार, विज्ञापन की प्रासंगिकता और लैंडिंग पृष्ठ का अनुभव महत्वपूर्ण है।

ऐडवर्ड्स और ऐडसेंस में क्या अंतर है? (Difference Between AdWords and AdSense in Hindi)

ऐडवर्ड्स और एडसेंस में क्या अंतर है इसको आप कुछ बातो से जान सकते हो:-

Google ऐडवर्ड्स को गूगल ने अपने विज्ञापनदाताओं के लिए बनाया गया है, जबकि Google ऐडसेंस को Google द्वारा अपने प्रकाशकों के लिए बनाया गया है। पब्लिशर  का मतलब है कि आपके पास एक ब्लॉग या वेबसाइट है जहां आप विज्ञापन के लिए जगह बेच रहे हैं।

गूगल ऐडवर्ड्स की मदद से आप गूगल और उसके एफिलिएट नेटवर्क पर अपने ऑनलाइन या ऑफलाइन बिजनेस को प्रमोट कर सकते हैं, वहीं गूगल ऐडसेंस की मदद से पब्लिशर्स अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर विज्ञापनदाताओं के विज्ञापन दिखाकर पैसे कमा सकते हैं।

निष्कर्ष :Difference Between AdWords and AdSense in Hindi

इस पोस्ट में हमने आपको गूगल अद्सेंसे और गूगल अद्वोर्ड्स में अंतर के बारे में बतलाया है। 

यदि आप ऑनलाइन बिज़नेस करते है तो आप गूगल अद्वोर्ड्स की मदद से अपने बिज़नेस को प्रमोट कर सकते है।

इसके अलावा यदि आपके पास ब्लॉग या वेबसाइट है तो आप उसपे गूगल अद्सेंसे के अड्स दिखा कर पैसे कमा सकते है।

आपको हमारा यह पोस्ट कैसे लगा हमे कमेंट के माध्यम से ज़रूर बतलाये। यदि पोस्ट से कुछ भी हेल्पफुल जानकारी मिली हो तो इसको अपने दोस्तों और रिस्तेदारो के साथ ज़रूर शेयर करे।

धन्यवाद !

FAQ: Difference Between AdWords and AdSense in Hindi

क्या गूगल एडसेंस में अकाउंट बनाना फ्री है?

हाँ! गूगल ऐडसेंस गूगल की एक फ्री सर्विस है। लेकिन Google AdSense से पैसे कमाने के लिए आपके पास एक Blog या Website होना बहुत जरूरी है जहां पर आप Content Publish करके पैसे कमा सकते हैं।

क्या गूगल ऐडसेंस पैसा कमाता है?

जी हां आप google AdSense से बहुत सारा पैसा कमा सकते हैं। और आज के समय में बहुत से ऐसे Blogger या YouTubers हैं जो लाखों रुपये महीना कमा रहे हैं।

क्या गूगल ऐडवर्ड्स फायदेमंद है?

हाँ! गूगल ऐडवर्ड्स की मदद से आप अपने ऑनलाइन व्यापार को लक्षित दर्शकों तक आसानी से पहुँचा सकते हैं।

क्या Google AdSense और Google AdWords को एक साथ इस्तेमाल किया जा सकता है?

आपको ऐसे बहुत से लोग मिल जायेंगे जो अपनी Google AdSense की कमाई बढ़ाने के लिए Google AdWords की मदद से अपने Blog या Website का प्रचार करते हैं। आप Google की इन दोनों सेवाओं का एक साथ उपयोग भी कर सकते हैं और अपनी कमाई बढ़ा सकते हैं।
लेकिन Google AdSense अपने पब्लिशर के ब्लॉग और वेबसाइट पर पेड विज्ञापनों की अनुमति नहीं देता है।

Also read:

1 thought on “गूगल ऐडवर्ड्स और गूगल ऐडसेंस में क्या अंतर है?”

Leave a Comment